दीपावली पर रहे सावधान, हो सकते हो ठगी के शिकार | Fraud se kaise bache

Spread the love

Fraud se kaise bache – जैसे-जैसे त्यौहार व शादियों की सीजन नजदीक आती है  वैसे वैसे ही ठगों और चोरों का गिरोह भी ज्यादा सक्रिय हो जाता है, आम आदमी को ठगने के लिए यह लोग ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मोड पर काम करते हैं जिस तरह भी हो यह कैसे ना कैसे करके दुकानदार या फिर ग्राहक को अपने जाल में फसा ही लेते हैं तो आज इस आर्टिकल में जानेंगे यह किस तरह से ठगी कर सकते हैं और बचने के लिए क्या करना चाहिए

Types of Fraud / ठगी के प्रकार

फ्रॉड मतलब ठगी की बात करें तो यह है मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है ऑफलाइन और ऑनलाइन जिसे हम प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष भी कह सकते हैं ऑफलाइन क्यों होती है जिसमें टैग किसी भी कस्टमर को सामने बैठकर अपने जाल में फंस आता है वही ऑनलाइन ठगी में ठग सैकड़ों हजारों किलोमीटर दूर से इंटरनेट के द्वारा अपना जाल बिछा कर लोगों को फ्रॉड का शिकार बनाता है

Offline fraud kya hai

Offline Fraud

ऑफलाइन ठगी में छोटे-छोटे चोरों के गिरोह, काम करते हैं जो अक्सर त्योहार या फिर शादी की सीजन में ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं यह लोग ज्यादा भीड़ भाड़ वाले काउंटर, कपड़े की दुकान या फिर सकड़ी गलियों में लगे हुए छोटे-छोटे मार्केट को निशाना बनाते हैं यह जहां कहीं भी चोरी करते हैं वहां एक गिरोह के रूप में जाते हैं और मौका लगते ही या तो कैश पर हाथ साफ कर दिया जाता है या फिर दुकान या शोरूम से सामान चुरा लिया जाता है

 ऑफलाइन ठगी से कैसे बचें

  • अपने प्रतिष्ठान या फिर दुकान पर हमेशा एचडी क्वालिटी के कैमरे लगाकर रखे जिनमें आवाज भी रिकॉर्ड हो
  • ग्रुप में आने वाले ग्राहकों का विशेष ध्यान रखें अगर साथ में छोटे बच्चे हो और लगे कि अजीब सी हरकत हो रही है तो उनको तुरंत अपनी दुकान से हटा दें
  • अगर आपके प्रतिष्ठान की शैल ज्यादा है और फिजिकल कैश ज्यादा रहता है तो इसके लिए आप एक अलग ड्रॉवर की व्यवस्था रखें, बड़ा कैश हमेशा सुरक्षित ड्रॉवर में ही रखें
  • अपने स्टॉक पर हमेशा ध्यान रखिए किसी भी ड्राइवर से अचानक माल कम होने पर सीसीटीवी जरूर चेक करें
  •  त्योहार व शादियों के सीजन में अपने सेल्समैन की संख्या बढ़ाएं ताकि ज्यादा भीड़ होने पर आराम से मैनेज किया जा सके 

ऑनलाइन ठगी

ऑनलाइन ठगी के द्वारा रोजाना हजारों लोगों से करोड़ों रुपए की ठगी हो रही है यह ठग इतने प्रोफेशनल  होते हैं कि आम आदमी एक ठगी से बचने का उपाय समझ नहीं पाता कि यह लोग ठगी का दूसरा जरिया तैयार कर लेते हैं इस ठगी के लिए यह लोग कॉल, व्हाट्सएप मैसेज, टेक्स्ट मैसेज, ईमेल के साथ-साथ फर्जी वेबसाइट का भी इस्तेमाल करते हैं

दीपावली पर आजकल कई लोग ऑनलाइन शॉपिंग करना पसंद करते है, अब कुछ ही दिनों बाद दिवाली है तो साफ है की लोग शॉपिंग भी करेंगे ॥ अब जहा अधिकांश लोग आज भी परिवार के साथ बाजार मे जाकर शॉपिंग करना पसंद करते है वही कुछ लोग अपनी दिनचर्या या फिर समयाभाव के कारण घर बेठे ही ऑनलाइन शॉपिंग कर लेते है

  और इसी समय का फायदा उठाते है ठग ऑनलाइन शॉपिंग करते समय फर्जी वेबसाईट के द्वारा सामान पर 50 से 60 प्रतिशत छूट दिखाकर लोगों को ऑनलाइन ठग्गी का शिकार बना लेते है

कैसे बनते है लोग ऑनलाइन ठगी का शिकार

ऑनलाइन ठगी करने के लिए इन ठगों का गिरोह है  बड़ी-बड़ी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों से मिलती जुलती अपनी फर्जी वेबसाइट और एप्प बना लेते हैं और फिर इन वेबसाइट को फेसबुक व्हाट्सएप व गुगल ऐड के जरिए प्रमोट करते हैं साथ ही इन पर शैल होने वाले सामान पर भारी छूट दिखाते हैं  और  इसी छूट के जाल में फसकर ग्राहक ऑनलाइन पेमेंट कर देते हैं और एक बार हजारों लोगों को फसा कर इस वेबसाइट को हटा दिया जाता है

ऑनलाइन ठगी से कैसे बचें

  • ऑनलाइन शॉपिंग करनी हो तो या तो अपने मोबाइल में मौजूद athoraid ऐप का यूज करें या फिर गूगल पर सही वेबसाइट को सर्च करें, फेक वेबसाइट से हमेशा बचे
  • फर्जी वेबसाइट का पता करने के लिए ध्यान दे – वेबसाइट के युआरएल पर अगर https ना  होकर केवल http ही हो तो या फिर युआरएल में वेबसाइट के डोमेन नेम के अलावा अगर कुछ और लिखा हो तो वह संधिग्त हो सकता है
  • अगर ऑनलाइन शोपिंग करते वक्त किसी साईट पर 60 से 80 प्रतिशत का डिस्काउंट हो तो वह वेबसाइट एक फर्जी साईट हो सकती है
  • व्हाट्सएप पर छुट और डिस्काउंट से संबंधित आने वाले लिंक को इग्नोर करें ऐसे मैसेज फ्रॉड हो सकते हैं

साइबर सिक्योरिटी, सामाजिक संगठन व मीडिया जब तक लोगों को एक ठगी के प्रकार से अवगत करवाते हैं यह ठग दूसरा तरीका निकाल लेते हैं जामताड़ा  जिसे कई इलाके है जो खासतौर से फ्रॉड जैसे काम पर ही पूर्णतया निर्भर है वह हर समय कोशिश करते हैं कि कैसे ना कैसे करके आम आदमी को ठगा जाए इसलिए कुछ जरूरी बातें हैं जिन पर हम ध्यान रख कर इस ठगी का शिकार होने से बच सकते हैं 

Fraud se kaise bache

  • अगर कोई अनजान व्यक्ति कॉल करके किसी भी बहाने से मोबाईल मे कोई ऐप / अप्लीकेशन डाउनलोड करने को कहे तो ऐसा कभी ना करे , ऐसा करने से आपका मोबाईल हैक हो सकता है 
  • अगर कोई कॉल कर के एटीएम या क्रेडिट कार्ड बंद होने का कहकर बैंक की जानकारी मांगे तो कभी ना दे , जरूरत होने पर अपनी बैंक शाखा मे संपर्क करे
  • एटीएम से पैसे विड्रॉल करते समय विशेष ध्यान रखे, अपने पिन नंबर किसी को ना बताये 
  • नेटबैंकिंग का यूज करते समय किसी भी सार्वजनिक नेट या वाईफाई का यूज ना करे
  • बैंक लॉन या लॉटरी से संबंधित आने वाले कॉल को जहा तक हो इगनोर करे, जरूरी हो तो संबंधित ऑफिस जाकर ही जानकारी ले 
  • अपने मोबाईल को हमेशा लॉक रखे व अनावश्यक ऐप डाउनलोड ना करे
  • अगर आपका करंट अकाउंट है या फिर आपके अकाउंट मे ज्यादा Payment रहता है और आप पेमेंट ट्रान्सफर के लिए अपनी बैंक के एप्प या थर्ड पार्टी ऐप का यूज करते है तो आपको ओटिपी व ऐप दोनों के लिए अलग अलग मोबाईल रखना चाहिये

ये कुछ महत्वपूर्व जानकारी है जिस का ध्यान रखकर ऑनलाइन ठगी से बच सकते है खास बात ये है की ऑनलाइन ठगी के अनेक रास्ते है और सरकार, बैंक, एनजीओ व सामाजिक संगठन जब तक जनता को जागरूक करते है ठग एक और नया रास्ता निकाल लेते है अगर इन ठगों से बचना है तो सबसे अच्छा उपाये है लालच से बचे ॥ 

विडियो के रूप में देखे 👇👇

उम्मीद है यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा होगा तथा हेल्पफुल साबित होगा आपके किसी भी प्रकार के सुझाव सादर आमंत्रित है – Thanks for Visit

यह भी जाने 👇👇

👉Credit Card kya hai || क्रेडिट कार्ड क्या है A to Z जानकारी
👉Benefits of SBI Yono || SBI YONO के क्या क्या फायदे है What is Yono
5/5 - (1 vote)

Leave a Comment